कन्या राशि के जातकों के लिए वर्ष 2021 का वर्षफल

समस्याएं मनुष्य के जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। समस्या है तो उसका समाधान भी है और समाधान का मजा भी तभी है

0
189
कन्या राशि के जातकों के लिए वर्ष 2021 का वर्षफल
कन्या राशि के जातकों के लिए वर्ष 2021 का वर्षफल

कन्या राशि के जातकों के लिए वर्ष 2021 का वर्षफल
Year 2021 Varshphal for Virgo Jatakas


यदि युवाओं से पूछा जाए कि उन्हें क्या चाहिए तो शायद दो ऐसी चीजें हैं जो प्रत्येक युवा को चाहिए वो है एक बहुत अच्छी नौकरी और एक बहुत ही अच्छा जीवनसाथी और जीवन साथी यदि उनके पसंद का हो तब तो फिर कहना ही क्या।
कन्या राशि के जातकों के लिए 2021 खास तौर पर युवा जातकों के लिए ये दोनों की सौगात लेकर के आ रहा है तो इसमें बिल्कुल भी अतिश्योक्ति नहीं है। बिल्कुल भी इसमें किसी प्रकार का कोई भी झूठ नहीं है। मैं तो इतना इसमें कॉन्फिडेंट हूं कि मैं आपको अग्रिम बधाई तक देना चाहता हूं।
2021 क्या वाकई में कन्या राशि के जातकों के लिए इक्कीस साबित होने वाला है ,साथ ही जानेंगे कुछ समस्यायें जो कि 2021 में कन्या राशि के जातकों को आ सकती हैं उन का क्या सरल नहीं सरलतम समाधान है।
यदि इस पूरी कुण्डली का विश्लेषण किया जाए हालांकि शनि इतना खराब नहीं है परन्तु फिर भी ये यहां पर 2021 में कन्या राशि के जातकों के लिए कुछ विशिष्ट क्षेत्रों में देरी का कारण जरूर बनेगा। पंचम स्थान में बैठा हो जो शनि है वो यहां पर देरी का कारण बनेगा,

जनवरी से मार्च

जनवरी से प्रारंभ करें और मार्च, ये तीनों महीने साल की जो शुरुआत है ये युवाओं को खासतौर पर जो एचआर ,फाइनेंस, एमबीए, कंसल्टेंसी या किसी प्रकार के वित्तीय क्षेत्र में नौकरी की तलाश कर रहे है उनको नौकरी की ज़रूर सौगात मिलेगी और दूसरे क्षेत्रों में भी नौकरी उनको जरूर मिलेगी। खास तौर पर जो नौकरी अभी कर रहे हैं उनको अपनी इच्छित नौकरी या ट्रांसफर भी यहां पर मिल सकता है और व्यापारी गण उनको नई आय का साधन यहां पर मिलेगा और ये सब होगा बुध का पंचम स्थान पर संचरण के कारण।
बात यदि संतान पक्ष की मैं करूं तो कन्या राशि के जातकों को अपने संतान के किसी निर्णय के चलते थोड़ी सी निराशा थोड़ी सी हताशा का शिकार होना पड़ेगा क्योंकि वो उनके विरुद्ध जा करके कोई निर्णय ले सकते हैं।

अप्रेल

अप्रेल में बुध अपनी नीच राशि में संचरण करेंगे। इस वक्त आप नई योजना नयी प्लानिंग बिल्कुल भी जल्दी से न बनाएं,आप चाहे जहां पर कार्य करते हैं,सरकारी क्षेत्र निजी क्षेत्र आपको अपने अधीनस्थों को खुश रखना पड़ेगा नहीं तो अधीनस्थों की तरफ से आपके लिए बहुत बड़ी परेशानी साबित हो सकती है और थोड़ा सा आपको संभल करके रहना होगा, आपकी गलती न भी हो वहां पर भी आप चुप तो रहेंगे ही। जहां पर आपकी ग़लती हो वहां पर भी चुप रहना ही आपके लिए खास तौर पर अप्रेल में सही रहेगा।

मई और जून

मई और जून की तो जो व्यापारी वर्ग हैं उनको निवेश के नए साधन मिलेंगे नए अवसर मिलेंगे ऐसे मौके उनको गंवाना नहीं चाहिए हालांकि कुछ अफवाहों के कारण हो सकता है कि वो निवेश न करें तो मैं उनको इस खास कालखंड में किसी भी प्रकार की अफवाह से दूर रहने की ही बात कहना चाहता हूं। कन्या राशि के जो जातक राजनीति में कार्यरत हैं उनको मीडिया से खासतौर पर सावधान रहना होगा। मीडिया उनकी छवि को खराब करने का कार्य यहां पर कर सकती है। बुध जब अपनी स्वराशि में आ जाएंगे।

जुलाई और अगस्त

जुलाई और अगस्त में तब ऐसे युवा जो कि अपनी शादी का बेसब्री से इन्तजार कर रहे है उनकी शादी की बात पूरी तरीके से पक्की होगी और बिलकुल भी आगे टूटेगी नहीं। खासतौर पर ऐसा होता है कई बार के शादी की बात चलती है पक्की भी हो जाती है और बिना किसी कारण के उस बात को तोड़ दिया जाता है तो ऐसा इस बार बिल्कुल भी नहीं होगा। आप शादी की तैयारियां कर सकते हैं और इससे भी बड़ी सोने पर सुहागे वाली बात यह है कि जहां आप चाहते हैं जैसा आप चाहते हैं वैसा ही जीवन साथी इस वर्ष आपको मिलने की पूरी उम्मीद है। पति पत्नी जिनके बीच में मनमुटाव लंबे समय से चल रहा था चाहे कितनी ही स्थितियां बिगड़ गई थी। कन्या राशि के लिए खुशखबरी यह है कि वहां पर समझौते की स्थिति होगी और पुनः दाम्पत्य जीवन को। सिरे से प्रारंभ करने का एक मौका आपको मिलेगा।

अक्टूबर

अक्टूबर मे आप भुगतान करते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें। उसमें किसी प्रकार की त्रुटि आपको लंबे समय के झगड़े में डाल सकती है। जो गर्भवती माताएं है उनको खुशखबरी मिल सकती है और जो गर्भवती होना चाहती हैं बहने उनको भी खुशखबरी मिलेगी। ईश्वर की विशेष अनुकंपा इस साल अक्टूबर माह में कन्या राशि के जातकों के लिए शुभ है।

नवंबर और दिसंबर

नवंबर और दिसंबर जो कि जाता हुआ वर्ष है हो सके तो यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो इन दो महीनों में कोर्ट की केस बिल्कुल भी न लें आगे बढ़वा सकें तो सबसे बेहतर होगा और ऐसा भी हो सकता है कि आपको अपना वकील चेंज करने वकील परिवर्तन करने की भी नौबत आ जाए तो आप उसको कर सकते हैं, क्योंकि लंबे समय से जो आपके वर्तमान वकील है वो आपकी पैरवी ठीक ढंग से नहीं कर पा रहे है।

आप का जो मत है आपका जो स्टैंड है आपकी जो विचारधारा है उस पर खड़े रहना उस पर बने रहना ही आपके लिए बेहतर रहेगा। बिल्कुल भी अपने आपको परिवर्तित न करें। आप बिल्कुल ठीक और सही दिशा में जा रहे हैं।
जितनी परेशानियों की हमने चर्चा की जितनी समस्याओं की हमने चर्चा की। समस्याएं मनुष्य के जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। समस्या है तो उसका समाधान भी है और समाधान का मजा भी तभी है जब समस्या से सामना किया जाए तो इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आपको निकट के किसी भी शिव मंदिर में प्रत्येक सोमवार और शनिवार इन दोनों दिन बिल्व पत्र चढ़ाने चाहिए। साथ ही कच्ची लस्सी का या छाछ का अभिषेक आपको शिवजी पर नियमित रूप से करना चाहिए।