मीन राशि के जातकों के लिए वर्ष 2022 का वर्षफल

0
136
मीन राशि के जातकों के लिए वर्ष 2022 का वर्षफल
मीन राशि के जातकों के लिए वर्ष 2022 का वर्षफल

मीन राशि के जातकों के लिए वर्ष 2022 का वर्षफल


हम बात कर रहे हैं वर्ष 2022 कि। नए वर्ष से हमारी अपनी अपनी आशाएं हैं अपनी अपनी उम्मीदें हैं। मीन राशि के लिए 2022 क्या सौगातें लेकर आया है? यदि आप मीन राशि के जातक हैं और ऋण जाल से आप ग्रस्त रहेंगे। लंबे समय से उस ऋण को यदि आप चुका नहीं पा रहे हैं, तो वह रास्ता अब आपके लिए 2022 खोलने वाला है। आपको या तो धन का एक ऐसा नया स्रोत मिलेगा कि, आप अपने ऋणों के जाल से बहुत ही शीघ्र मुक्त हो सके और न केवल धन से संबंधित ऋण, बल्कि 2022 में आप कई प्रकार के ऋणों से मुक्ति अवश्य प्राप्त करेंगे।

साथ ही कुछ सकारात्मक और कुछ नकारात्मक दोनों पहलुओं पर हम चर्चा करेंगे और इसके बाद मैं चार ऐसी सावधानियों पर चर्चा करेंगे जो कि, यदि मीन राशि के जातक 2022 में अपना लेते हैं तो 2022 उनके जीवन का सर्वोत्तम वर्ष अवश्य साबित होगा।

सबसे पहले हम शुरुआत करते हैं वर्ष के शुरूआत में व्यापारी वर्ग को लेकर के वर्ष के शुरूआत में ही शनिदेव वो आपकी जन्मपत्रिका में आपके मीन राशि के अनुसार ग्यारहवें भाव में गोचर कर रहे हैं और एकादश भाव जो ग्यारहवें भाव है वह लाभ का भाव आय का भाव। यदि आप ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं, यदि भारी मशीनरी से संबंधित कोई काम आप करते हैं, लोहा से संबंधित कोई काम करते हैं, कैमिकल इंडस्ट्री से यदि आप जुड़े हुए हैं तो आपके धन संचय का और धन आगमन का नया रास्ता खुलेगा, ताकि आप यदि ऋण जाल में हैं तो उस ऋण से मुक्त हो पाएं।

अप्रैल में शनि द्वादश भाव में जो कि खर्च का भाव है वहां पर गोचर करेगा। परंतु ऐसे जातक जो कि विदेश व्यापार से जुडऩा चाहते हैं। विदेश व्यापार के अपने व्यापार को बढ़ाना चाहते हैं। विदेश में जाकर नौकरी करना चाहते हैं, विदेश में परमानेंट रेजिडेंस शिप चाहते हैं, उनके लिए अप्रैल में नए द्वार अवश्य खुलेंगे। उनको बहुत अच्छे स्तर की नौकरी जरूर मिलेगी परंतु ये जो गोचर है ये आपके अप्रैल के आसपास खर्चों में भी कई गुना वृद्धि कर देगा। यदि आप प्रमोशन की राह देख रहे थे तो अप्रैल मई और जून ये तीन माह आपके प्रमोशन के लिए ठीक नहीं, बल्कि सर्वोत्तम साबित होंगे और ये प्रमोशन यदि आपका लंबे समय से ड्यू है।आप की बजाय किसी और का प्रमोशन होने वाला था, तब भी उनका कैंसिल हो करके आप का प्रमोशन अवश्य ही होगा। कहने का अर्थ ये है कि, नौकरी पेशा व्यक्तियों के लिए ये तीन माह बहुत ही खुशखबरी भरे रहने वाला।

अभी ये तो कुछ भी नहीं करियर का द्वार आपका सर्वोत्तम है वो अक्टूबर के आस-पास एक ऐसा पल आएगा जिसका आपको वर्षों से इन्तजार था। अपने संगठन को बदलकर आप जिस आर्गेनाइजेशन में जिस कंपनी में आप कार्यरत है उससे अच्छा ऑफर आपको किसी दूसरी कंपनी में उससे बड़ा दायित्व, उससे बड़ा पद ज़रूर मिलेगा, ताकि आप अपने सपनों को पूरा कर सकें।

छात्र वर्ग की यदि मैं बात करूं तो वर्ष के शुरूआत से ही अर्थात जनवरी के मध्य से ही वृश्चिक राशि में जो मंगल देव का गोचर है वो नवम भाव में आपको बहुत बेहतरीन प्लेसमेंट दिलवाएगा, जो अंतिम वर्ष के छात्र और छात्राएं हैं उनको मनमाफिक पद पर प्लेसमेंट जरूर मिलेगी। विदेश में जाकर क्या आप उच्च शिक्षा ग्रहण करने का मौका मिलेगा? और यदि आप प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो निश्चित रूप से आपको यहां पर सफलता मिलती हुई नज़र आ रही है।
साथ ही थोड़ी सावधानियों की और नकारात्मक बिंदु क्या है? ताकि आप उसका विशेष खयाल रखें। अप्रेल, मई, जून नियत तीन माह आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष रूप से खयाल रखना है। मीन राशि के जो छोटे बच्चे हैं चाहे वो नवजात शिशु से लेकर के 10 वर्ष की आयु के हों उनके स्वास्थ का पलड़ा इस समय बहुत ही कमजोर रह सकता है। वायरल बुखार, कफ से संबंधितकोई प्रॉब्लम है इसलिए बच्चों का आपको विशेष खयाल रखना चाहिए। यदि आप सार्वजनिक जीवन में हैं, तो खास तौर पर मई का महीना आपके लिए मानसिक तनाव को दूर वृद्धि करने वाला साबित होगा। सार्वजनिक जीवन में यदि आप हैं तो हो सके तो थोड़े दिन के लिए आप अवकाश ग्रहण कर लें। पूरे मई ही यदि आप अवकाश ग्रहण कर लेंगे तो यह आपके आने वाले जीवन के लिए सर्वोत्तम साबित होगा।

साथ ही आप दो चार ऐसी सावधानियां या ऐसे व्यावहारिक नियम आप अपने पूरे जीवन मे जरूर अपनाइए। अपने इस वर्ष को जीवन का सर्वोत्तम वर्ष साबित करने के लिए सबसे पहली बात आप अपनी नीयत साफ रखिये, नीयत में तनिक भी आपको खोट नहीं होनी चाहिए। आप थोड़े से अपने लाभ के लिए अपनी नीयत को डांमाडोल मत करिए। दूसरा सिद्धांत अपने को अप टू डेट रखें। कुछ नया हमेशा सीखते रहिए। जैसे-जैसे आप नया सीखेंगे आपका व्यक्तित्व भी बढ़ेगा। तीसरा सिद्धांत आप परिणाम को प्राथमिकता मत दीजिए जो आप कार्य कर रहे हैं उस कार्य को सर्वोत्तम तरीके से कीजिए। परिणाम आपके लिए हमेशा सर्वोत्तम अवश्य ही हो जाएंगे। चौथा और बहुत महत्वपूर्ण सिद्धांत कभी भी तुरंत प्रतिक्रिया मत दीजिए। अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए आप समय लीजिए चाहे आपकी तारीफ हो रही है चाहे आप पर लानत भेजी जा रही है, दोनों में ही आपको प्रतिक्रिया देने में समय लेना चाहिए।